विधुत रसायन

  1. अपने विधुत रासायनिक समतुल्यांक के बराबर मात्रा जमा करने के लिए कितनी विधुत धारा 0.25 सेकेण्ड तक प्रवाहित करनी होगी ?
Whatsapp Group
youtube

(A) 1 A
(B) 4 A
(C) 5 A
(D) 100 A

show answer
(B) 4 A

 

  1. विशिष्ट चालकता की इकाई होती है

(A) Ohm cm-1
(B) Ohm cm-2
(C) Ohm-1cm-1
(D) Ohm-1cm-2

show answer
(C) Ohm-1cm-1

 

  1. किसी पदार्थ की अभिक्रिया की दर निम्नलिखित में किस पर निर्भर करता है।

(A) परमाणु द्रव्यमान
(B) समतुल्य द्रव्यमान
(C) अणु द्रव्यमान
(D) सक्रिय मात्रामा

show answer
(D) सक्रिय मात्रामा

 

  1. डेनियल सेल में होनेवाली सेल अभिक्रिया है।

(A) Zn + Cu→ Zn2+ + Cu2+
(B) Zn2+ + Cu2+ → Zn + Cu2+
(C) Zn + Cu2+→ Zn2+ + Cu
(D) Zn2+ + Cu2+ → Zn + Cu

show answer
(C) Zn + Cu2+→ Zn2+ + Cu

 

  1. सिल्वर नाइट्रेट के घोल से 108 ग्राम सिल्वर मुक्त करने के लिए विधुत धारा की जो मात्रा की आवश्यकता होती है, वह है

(A) 1 ऐम्पीयर
(B) 1 कूलम्ब
(C) 1 फैराडे
(D) 2 ऐम्पीयर

show answer
(C) 1 फैराडे

 

  1. वैधूत अपघटन की क्रिया में कैथोड पर होता है ?

(A) आक्सांकरण
(B) अवकरण
(C) विघटन
(D) जल अपघटन

show answer
(B) अवकरण

 

  1. प्रथम कोटि की कोई अभिक्रिया 32 मिनट में 75 प्रतिशत पूरी हो जाती है। उसके 50 प्रतिशत पूरा होने में कितना समय लगेगा ?

(A) 16 मिनट
(B) 24 मिनट
(C) 10 मिनट
(D) 20 मिनट

show answer
(A) 16 मिनट

 

  1. A,B,C और D धातुओं के मानक इलेक्ट्रोड क्रमश:-3.05,-1.66,-0.40 और +0.8 बोल्ट है। इनमें किस धातु की अपकरण क्षमता सबसे अधिक होगी ?

(A) A
(B) B
(C) C
(D) D

show answer
(A) A

 

  1. निम्नलिखित में कौन-सा सेल हाइड्रोजन एवं ऑक्सीजन के रासायनिक ऊर्जा को विधुत ऊर्जा में बदलता है ?

(A) पारा सेल
(B) डेनियल सेल
(C) ईंधन सेल
(D) लेड संचय सेल

show answer
(C) ईंधन सेल

 

  1. निम्न में कौन सर्वाधिक ऑक्सीकरण अवस्था प्रदर्शित कर सकता है ?

(A) Sc
(B) Fe
(C) Zn
(D) Mn

show answer
(D) Mn

 

  1. प्लैटिनम इलेक्ट्रोड का इस्तेमाल करके तनु H,SO, का वैद्युत अपघटन करने पर ऐनोड पर कौन-सी गैस मुक्त होती है ?

(A) H2S
(B) 02
(C) so2
(D) H2

show answer
(B) 02

 

  1. सेल Zn|AnSO4|| CuSO4|Cu का विधुत वाहक बल 1.10 वोल्ट है। उसका कैथोड

(A) Zn
(B) Cu
(C) ZnSO4
(D) CuSO4

show answer
(B) Cu

 

  1. निम्नलिखित में कौन द्वितीयक सेल है ?

(A) लेकलांचे सेल
(B) लेड स्टोरेज बैटरी
(C) सान्द्रण सेल
(D) इनमें से सभी

show answer
(B) लेड स्टोरेज बैटरी

 

  1. एक फैराडे का विधुत Cuso4 के घोल से कितना ग्राम ताँबा मुक्त करता है ?

(A) 63.5
(B) 31.75
(C) 96500
(D) 100

show answer
(B) 31.75

 

  1. किस धातु की आयनन ऊर्जा सबसे कम है ?

(A) Li
(B) K
(C) Na

(D) F

show answer
(D) F

 

  1. निम्न में कौन लैन्थेनॉयड अनुचुम्बकीय है ?

(A) Ce4+
(B) Yb2+
(C) Eu2+
(D) Lu2+

show answer
(C) Eu2+

 

  1. प्लैटिनम इलेक्ट्रोड पर आयन पहले अपचयित होता है। जिला

(A) Zn ++ से
(B) Cu ++ से ए
(C) Ag ++ से
(D) I2 से

show answer
(A) Zn ++ से

 

  1. निम्नलिखित में से कौन-सी प्रतिक्रिया सम्भव नहीं है। कारक 7.

(A) Cu + 2AgNO3 → Cu(NO3)2 + 2Ag
(B) CaO + H2 + Ca + H2O
(C) Cu0+ H2 →Cu+H2O
(D) Fe+H2SO4 → FeSO4 +H20

show answer
(B) CaO + H2 + Ca + H2O

 

  1. विधुत रासायनिक श्रेणी के आधार पर तनु अम्लों से प्रतिक्रिया कर हाइड्रोजन नहीं प्रदान करने वाली धातुएँ हैं

(A) Ca, Sr, Ba
(B) Cu, Ag, Au
(C) Zn, Fe, Pb
(D) Na, Zn, AI, Cu

show answer
(B) Cu, Ag, Au

 

  1. निम्नलिखित में किस धातु के लवण के जलीय विलयन के विधुत विच्छेदन से धातु प्राप्त किया जा सकता है।

(A) Na
(B) Al
(C) Ca
(D) Ag

show answer
(D) Ag

 

  1. तनु H2SO4 के विधुत अपघटन द्वारा NTP पर 5600 cm3 ऑक्सीजन गैस बनाने के लिए कितनी विधुत प्रयुक्त होगी

(A) 0.50 F
(B) 1.00 F
(C) 1.50 F
(D) 2.0 F

show answer
(B) 1.00 F

 

  1. निम्न आयनों में सबसे प्रबल अपचायक कौन है ?

(A) F–
(B) Cl–
(C) Br–
(D) I–

show answer
(D) I–

 

  1. चार तत्त्वों A, B, C तथा D के मानक अपचयन विभव क्रमशः -2.90, +1.50, -0.74 तथा +0.34 वोल्ट हैं। इनमें सर्वाधिक प्रबल अपचायक है।

(A) A
(B) B
(C) C
(D) D

show answer
(A) A

 

  1. Mg, K, Fe और Zn धातुओं की अपचायक क्षमता का बढ़ता क्रम है ।

(A) K<Mg < Fe<Zn
(B) K<Mg < Zn< Fe
(C) Fe< Zn < Mg < K
(D) Zn < Fe < Mg <K

show answer
(C) Fe< Zn < Mg < K

 

  1. सेल स्थिरांक की इकाई है ।

(A) Ω–
(B) Ω– cm-1
(C) cm-1
(D) Ω cm

show answer
(C) cm-1

 

  1. सर्वाधिक चालकता है

(A) सिलकॉन
(B) लोहार
(C) चाँदी
(D) टेफलॉन

show answer
(C) चाँदी

 

  1. विशिष्ट चालकता का मान चालकता के मान के बराबर होगा जब

(A) सेल स्थिरांक का मान शून्य हां
(B) संल स्थिरांक का मान एक हो
(C) जब इलक्ट्रांड ताबा का बना हो
(D) जब सेल का आकार बहुत बड़ा हो

show answer
B) संल स्थिरांक का मान एक हो

 

  1. 0.5 एम्पियर की विधुत धारा 30 मिनट तक कॉपर सल्फेट (Cuso4) के विलयन से प्रवाहित करने पर कितना कॉपर निक्षेपित होगा ?

(A) 0.582 ग्राम
(B) 0.296 ग्राम
(C) 0.184 ग्राम
(D) 0.635 ग्राम

show answer
(B) 0.296 ग्राम

 

  1. किसी विलयन की चालकता, समानुपाती होता है।

(A) तनुता (dilution)
(B) आयन की संख्या
(C) विधुत धारा का घनत्व
(D) विलयन का आयतन

show answer
(B) आयन की संख्या

 

  1. किसी इलेक्ट्रोड पर किसी पदार्थ का एक ग्राम समतुल्यांक एकत्रित करने के लिए विधुत आवेश की आवश्यकता है

(A) एक सेकेण्ड के लिए एक एम्पियर
(B) 96500 कूलम्ब प्रति सेकेण्ड
(C) एक मोल इलेक्ट्रॉन का आवेश
(D) एक एम्पियर की विधुत धारा एक घंटा तक

show answer
(C) एक मोल इलेक्ट्रॉन का आवेश

 

  1. AICI3 के घोल से एक मोल ऐल्युमिनियम को इलेक्ट्रोड पर जमा होने में विधुत की आवश्यकता होगी

(A) 1 F
(B) 3 F
(C) 0.33 F
(D) 1 Amp

show answer
(B) 3 F

 

  1. 298 k पर निम्नलिखित अर्द्धसेल प्रतिक्रिया के लिए परम अवकरण इलेक्ट्रोड विभव का मान दिया गया है

Znt++(aq) + 2e–→ Zn(s), -0.762

Cr3+(aq) + 3e– →Cr(s),-0.740

2H+(aq) + 2e– →H2(g), 0.000

Fe3+(aq) + e–→ Fe++(aq), -0.770

इनमें से सबसे प्रबल अवकारक कौन है ?

(A) Zn(s)
(B) Cr(s)
(C) H2(g)
(D) Fe2+

show answer
(A) Zn(s)

 

  1. किसी Mercury सेल में कौन-सा पदार्थ नहीं होता है

(A) Hgo
(B) KOH
(C) Zn
(D) HgCl2

show answer
(D) HgCl2

 

  1. एक कूलम्ब बराबर होता है

(A) 96500 फैराडे
(B) 6.24 x 1018 इलेक्ट्रॉन का आवेश
(C) एक इलेक्ट्रॉन का आवेश
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) 6.24 x 1018 इलेक्ट्रॉन का आवेश

 

  1. जब सेल प्रतिक्रिया साम्यावस्था को प्राप्त कर लेता है उस समय सेल का EMF होता है

(A) शून्य
(B) धनात्मक
(C) ऋणात्मक
(D) निश्चित नहीं

show answer
(A) शून्य

 

  1. किसी अर्द्धसेल का इलेक्ट्रोड विभव निर्भर करता है

(A) धातु की प्रकृति पर
(B) सेल में धातु आयन की सान्द्रता पर
(C) तापक्रम
(D) उपरोक्त सभी

show answer
(D) उपरोक्त सभी

 

  1. कॉपर सल्फेट (CuSO4) को एल्यूमिनियम के बर्तन में नहीं रखा जा सकता है क्योंकि

(A) Cu++ ऑक्सीकृत हो जाता है
(B) Cu++ अवकृत हो जाता है ।
(C) A1 अवकृत हो जाता है
(D) CuSO4 विघटित हो जाता है

show answer
(B) Cu++ अवकृत हो जाता है ।

 

  1. निम्नलिखित में से किस पदार्थ के घोल को कॉपर के बर्तन में सुरक्षित रखा जा सकता है

(A) ZnSO4
(B) AgNO3
(C) AuCI3
(D) इनमें से सभी को

show answer
(A) ZnSO4

 

  1. निम्नलिखित में से कौन धातु कॉपर सल्फेट (CuSO4) के साथ प्रतिक्रिया नहीं करता है ?

(A) Fe
(B) Zn
(C) Mg
(D) Ag

show answer
(D) Ag

 

  1. यदि किसी सेल से अचानक साल्ट ब्रिज को हटा लिया जाय तो सेल का (6 वोल्टेज

(A) बढ़ता है
(B) घटता है
(C) शून्य हो जाता है
(D) बढ़ भी सकता है और घट भी सकता है यह सेल प्रतिक्रिया पर निर्भर करता है

show answer
(C) शून्य हो जाता है

 

  1. साल्ट ब्रिज में KCI का उपयोग किया जाता है क्योंकि

(A) K+तथा Cl– इसोइलेक्टिॉनिक है
(B) K+तथा Cl– का समान ट्रान्सपोर्ट संख्या है की कामना कर
(C) KCl एक प्रबल इलेक्ट्रोलाइट है
(D) KCI एक अच्छा जेली बनता है अगर-अगर के साथ

 

show answer
(B) K+तथा Cl– का समान ट्रान्सपोर्ट संख्या है की कामना कर

 

  1. Zn-CuSO4 सेल के लिए कौन-सा कथन सत्य है

(A) इलेक्ट्रॉन का प्रवाह कॉपर से जिंक की तरफ होता है
(B) कॉपर के E०Red का मान जिंक के E०Red के मान से कम होता है
(C) इसमें जिंक एनोड तथा कॉपर कैथोड का काम करता है
(D) उपरोक्त सभी कथन सत्य है

show answer
(C) इसमें जिंक एनोड तथा कॉपर कैथोड का काम करता है

 

  1. 96500 कूलॉम CuSO4के विलयन से मुक्त करता है ।

(A) 63.5 ग्राम ताँबा
(B) 31.76 ग्राम ताँबा
(C) 96500 ग्राम ताँबा
(D) 100 ग्राम ताँबा

show answer
(B) 31.76 ग्राम ताँबा

 

  1. विधुत की वह मात्रा जो AgNO3 के घोल में से 108 ग्राम Ag जमा करा सकता हैं।

(A) 1 फैराडे
(B) 1 एम्पीयर
(C) 1 कूलॉम
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) 1 फैराडे

 

  1. निम्नलिखित में से कौन द्वितीयक (secondary) सेल हैं।

(A) लेकलॉच सेल
(B) लेड स्टोरेज बैटरी
(C) सान्द्रण सेल
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) लेड स्टोरेज बैटरी

 

  1. निम्न में से कौन सा सबसे शक्तिशाली ऑक्सीकारक है

(A) F2
(B) Cl2
(C) Br2
(D) I2

show answer
(A) F2

 

  1. द्रवित सोडियम क्लोराइड के विधुत अपघटन से कैथोड पर मुक्त होता है

(A) क्लोरीन
(B) सोडियम
(C) सोडियम-अमलगम
(D) हाइड्रोजन

show answer
(B) सोडियम

 

  1. एक सामान्य हाइड्रोजन इलेक्ट्रोड का इलेक्ट्रोड विभव शून्य है क्योंकि पानी में

(A) हाइड्रोजन आसानी से ऑक्सीजन होता है
(B) इलेक्ट्रोड का विभव शून्य माना गया है
(C) हाइड्रोजन परमाणु का केवल एक इलेक्ट्रॉन है
(D) हाइड्रोजन सबसे हल्का तत्त्व है

show answer
(B) इलेक्ट्रोड का विभव शून्य माना गया है

 

  1. KNO3 का संतृप्त विलयन ‘लवण सेतू’ बनाने के लिए उपयोग किया जाता है क्योंकि

(A) K+ की गति NO–3 से अधिक है
(B) NO–3 की गति K+ से अधिक है
(C) दोनों K+ और NO–3 की गतियाँ लगभग समान है
(D) KNO3 जल में अधिक घुलनशील है

show answer
(C) दोनों K+ और NO–3 की गतियाँ लगभग समान है

 

  1. यदि इलेक्ट्रॉनिक विलयन को नौ गुणा तक तनु कर दिया जाय तो उसकी चालकता

(A) नौ गुणा बढ़ जायेगी
(B) नौ गुणा घट जायेगा
(C) अपरिवर्तित रहेगा
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) नौ गुणा बढ़ जायेगी

 

  1. पोटैशियम इलेक्ट्रॉड को प्रयुक्त करते हुए तनु सल्फ्यूरिक अम्ल का वैद्युत् अपघटन करने पर ऐनोड पर प्राप्त उत्पाद होगा

(A) हाइड्रोजन
(B) ऑक्सीजन
(C) हाइड्रोजन सल्फाइड
(D) सल्फर डाइऑक्साइड

show answer
(B) ऑक्सीजन

 

  1. निम्न में से कौन एक अवरोधक है?

(A) ग्रेफाइट
(B) एल्यूमीनियम
(C) डायमण्ड
(D) सिलिकॉन

show answer
(C) डायमण्ड

 

  1. लोहे पर प्लेटिंग के लिए सबसे अधिक उपयुक्त धातु जो संक्षारण के विरुद्ध सुरक्षा करती है

(A) निकेल प्लेटिंग
(B) कॉपर प्लेटिंग
(C) टिन प्लेनिंग
(D) जिंक प्लेटिंग

show answer
(D) जिंक प्लेटिंग

 

  1. तनु H2SO4 के वैधूत् अपघटन में, ऐनोड पर क्या प्राप्त होता है ?

(A) H2
(B) SO2-4
(C) SO2
(D) O2

show answer
(D) O2

 

  1. Na3SO4 का विलयन कुछ अक्रिय इलेक्ट्रोड के प्रयोग द्वारा वैद्युत् अपघटित होता है। इलेक्ट्रोड पर बने उत्पाद हैं

(A) O2H2
(B) O2.Na
(C) O2.SO2
(D) O2S2O8

show answer
(A) O2H2

 

56. स्मगलर सोने की चोरी सोने के ऊपर आयरन की पर्त लगाकर नहीं कर सकते क्योंकि

(A) सोना अधिक घनत्व वाला होता है
(B) आयरन में जंग लगती है।
(C) सोना आयरन की तुलना में ज्यादा अपचयन विभव वाला होता है,
(D) सोना आयरन की तुलना में कम अपचयन विभव वाला होता है

show answer
(C) सोना आयरन की तुलना में ज्यादा अपचयन विभव वाला होता है,

 

  1. Al+3विलयन से (AI का परमाणु भार =27.0 g)Al3+ के 9 ग्राम को जमा करने में आवश्यक आवेश है

(A) 32166.3 C
(B) 96500.0 C
(C) 9650.0 C
(D) 3216.33 C

show answer
(B) 96500.0 C

 

  1. एल्यूमीनियम के जलीय विलयन से 9.65 ऐम्पियर धारा गुजारने पर एल्युमीनियम के एक मिलीमोल को जमा करने में आवश्यक समय है

(A) 30S
(B) 10S
(C) 30,000S
(D) 10,000S

show answer
(A) 30S

 

  1. एक वैधूत् अपघटनी सेल में, इलेक्ट्रॉन का प्रवाह होता है

(A) विलयन में कैथोड से ऐनोड की ओर
(B) बाह्य आपूर्ति द्वारा कैथोड से ऐनोड
(C) अन्तः आपूर्ति द्वारा कैथोड से ऐनोड
(D) अन्तः आपूर्ति द्वारा एनोड से कैथोड

show answer
(C) अन्तः आपूर्ति द्वारा कैथोड से ऐनोड

 

  1. जलीय विलयन में क्षारीय धातु आयनों की गमनशीलता का सही क्रम है

(A) K+> Rb+ > Na+> Li+
(B) Rb+ > K+ > Na+> Li+
(C) Li+ > Na+ > K+ > Rb+
(D) Na+> K+ > Na+ > Li+

show answer
(B) Rb+ > K+ > Na+> Li+

 

  1. N/10 विलयन का प्रतिरोध 2.5 x 103 ओम प्राप्त हुआ। विलयन की तुल्यांकी चालकता है

(A) 2.5 ओम-1 cm2 तुल्यांक-1
(B) 0.5 ओम-1 cm2 तुल्यांक-1
(C) 12.5 ओम-1 cm2 तुल्यांकन-1
(D) 5.0 ओम-1 cm2 तुल्यांक-1

show answer
(B) 0.5 ओम-1 cm2 तुल्यांक-1

 

  1. प्रबल वैधूत् अपघट्य की चालकता

(A) तनुता पर धीरे से बढ़ती है
(B) तनुता पर घटती है
(C) तनुता पर परिवर्तन नहीं होता है
(D) विलयन के घनत्व पर निर्भर करती है

show answer
(A) तनुता पर धीरे से बढ़ती है

 

  1. NaCl, KBr व KCl के लिए सीमित मोलर चालकताएं क्रमशः 126, 152 व 150 S cm2 mol-1 होती है। NaBr के लिए ∧° है।

(A) 278 S cm-1mol-1
(B) 175 S cm-2mol-1
(C) 128 S cm-2mol-1
(D) 302 S cm-2mol-1

show answer
(C) 128 S cm-2mol-1

 

  1. दिया है, l/a = 0.5 cm-1, R=50 ohm, N = 1.0 वैधूत् अपघटनी सेल की तुल्यांक चालकता है

(A) 100 hm-1 cm2 (ग्राम तु०-1)
(B) 20 ohm-1 cm2 (ग्राम तु०-1)
(C) 300 hm-1 cm2 (ग्राम तु०-1)
(D) 100 ohm-1 cm2 (ग्राम तु०-1)

show answer
(A) 100 hm-1 cm2 (ग्राम तु०-1)

 

  1. निम्न विलयनों में से किसकी सबसे उच्च वैधूत् चालकता है ?

(A) 0.1 M एसीटिक अम्लर
(B) 0.1 M क्लोरो एसीटिक अम्ल
(C) 0.1 M फ्लोरों एसीटिक अम्ल
(D) 0.1 M डाइ फ्लोरो एसीटिक अम्ल

show answer
(D) 0.1 M डाइ फ्लोरो एसीटिक अम्ल

 

  1. कौन पदार्थ निम्न अभिक्रिया में अपचायक की तरह कार्य करता है ?

H+ + Cr2O2+7+3Ni → 2Cr3+ + 7H2O +3Ni2+

(A) H20
(B) Ni
(C) H+
(D) Cr2O2+7

show answer
(B) Ni

 

  1. निम्न में से कौन-सा हैलोजन अम्ल सबसे प्रबल अपचायक होता है ?

(A) HCI
(B) HBI
(C) HI
(D) HF

show answer
(C) HI

 

  1. सान्द्रता को बिना खोये, ZnCI2 विलयन किसके साथ सम्पर्क में नहीं रखा जा सकता

(A) AU
(B) AI
(C) Pb
(D) Ag

show answer
(B) AI

 

  1. एक फराडे विधुत धारा प्रवाहित करने पर प्राप्त मात्रा बराबर होगी

(A) एक ग्राम समतुल्य
(B) एक ग्राम मोल
(C) विधुत रासायनिक तुल्यांक
(D) आधा ग्राम समतुल्यांक

show answer
(A) एक ग्राम समतुल्य

 

  1. सेल अभिक्रिया स्वतः होती है जब

(A) E०सेल धनात्मक है
(B) AG ऋणात्मक है
(C) AG धनात्मक है
(D) E०सेल ऋणात्मक है

show answer
(B) AG ऋणात्मक है

 

  1. लोहे का संरक्षण रोकने का सबसे अच्छा तरीका है

(A) आयरन कैथोड बनाकर
(B) खारे जल में इसे रखकर
(C) इनमें से दोनों
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) आयरन कैथोड बनाकर

 

  1. जब सीसा संचय बैटरी आवेशित होती है तब

(A) लेड डाइऑक्साइड घुल जाती है
(B) सल्फ्यूरिक अम्ल पुनः बन जाता है
(C) लेड धातु लेड सल्फेट के साथ स्तरित कर दी जाती है
(D) सल्फ्यूरिक अम्ल की सान्द्रता घटती है

show answer
(B) सल्फ्यूरिक अम्ल पुनः बन जाता है

 

  1. जब कॉपर के तार का एक टुकड़ा जलीय सिल्वर लवण (सल्फेट) के विलयन में डुबोया जाता है, विलयन नीले रंग का बन जाता है। यह होता है

(A) सिल्वर का ऑक्सीकरण
(B) कॉपर का ऑक्सीकरण
(C) कॉपर जटिल का निर्माण
(D) कॉपर का अपचयन

show answer
(B) कॉपर का ऑक्सीकरण

 

  1. ईंधन सेल में निम्न में से कौन-सी अभिक्रियाएँ प्रयुक्त होती है?

(A) Cd(s) + 2Ni(OH)3(s) → CdO(s) + 2Ni(OH)2(s) + H2O
(B) Pb(s) + PbO2(s) + 2H2SO4(aq.) → 2PbSO4(s) + 2H2O
(C) 2H2(g) + O2(g)O → 2H2O(¡)
(D) 2Fe(s) + O2(g) + 4H(aq.) → 2Fe2+(aq.) + 2H2O

show answer
(C) 2H2(g) + O2(g)O → 2H2O(¡)
  1. अगर E० Fe3+/Fe = -0.441 V व E° Fe2+/Fe= 0.771 v हो तब Fe+ 2Fe3+ → 3Fe2+ + अभिक्रिया का मानक EMF होगा।

(A) 1.653 v
(B) 1.212 v
(C) 0.111 V
(D) 0.330 v

show answer
(B) 1.212 v

 

  1. अर्द्धसेल अभिक्रिया A+ + e– → A– बड़े ऋणात्मक आयनन विभव वाली होती है यह बताती है कि

(A) A आसानी से ऑक्सीकृत हो जाता है
(B) A आसानी से अपचयित हो जाता है।
(C) A-आसानी से ऑक्सीकृत हो जाता है
(D) A-आसानी से अपचयित हो जाता है

show answer
(C) A-आसानी से ऑक्सीकृत हो जाता है

 

  1. Zn(s) → Zn2+(aq.) +2e-E° = +0.76 v Ag(s) → Ag+ (aq.)+ e– E° =-0.80 v निम्न में से कौन-सी अभिक्रिया प्रारंभ में होगी ?

(A) Zn2+ (aq.) + Ag+(aq.) → Zn(s) + Ag(s)
(B) Zn(s) + 2Ag+ (s) → 2Zn2+ (aq.) + Ag+(aq.)
(C) Zn(g) + 2Ag+(aq.) → Zn2+ (aq.)+2Ag(s)
(D) Zn2+(aq.) + 2Ag(s) → 2Ag+(aq.) + Zn(s)

show answer
(C) Zn(g) + 2Ag+(aq.) → Zn2+ (aq.)+2Ag(s)

 

  1. निम्न अभिक्रिया देखिए Zn + Cu2+ → Zn2++Cu उपर्युक्त निष्कर्ष के आधार पर कौन-सा तथ्य सही है ?

(A) Zn, Zn2+ आयनों में अपचयित हो जाता है
(B) Zn, Zn2+ आयनों में ऑक्सीकृत होता है
(C) Zn2+ आयनों Zn में ऑक्सीकृत हो जाती है
(D) Cu2+ आयन Cu में ऑक्सीकृत हो जाती है

show answer
(B) Zn, Zn2+ आयनों में ऑक्सीकृत होता है

 

  1. A,B व C के मानक इलेक्ट्रोड (अपचयन) विभव क्रमशः +0.68,-2.50 व -0.50 v होती है। उनकी अपचयन शक्ति के सही क्रम है।

(A) A > B > C
(B) A > C > B
(C) C > B > A
(D) B > C > A

show answer
(D) B > C > A

 

  1. फैराडे का विधूत्-अपघटन नियम निम्न में से किससे संबंधित है ?

(A) धनायन के परमाणु भार से
(B) धनायन की गति से
(C) ऋणायन की गति से
(D) इलेक्ट्रोलाइट के समतुल्य भार से

show answer
(D) इलेक्ट्रोलाइट के समतुल्य भार से

 

  1. एक मानक हाइड्रोजन इलेक्ट्रोड, शून्य इलेक्ट्रॉड विभव वाला होता है क्योंकि

(A) हाइड्रोजन को ऑक्सीकृत करना आसान होता है
(B) इलेक्ट्रॉड 5 विभव को शून्य माना जाता है
(C) हाइड्रोजन परमाणु केवल एक इलेक्ट्रॉन वाला होता है
(D) हाइड्रोजन सबसे हल्का तत्त्व होता है

show answer
(B) इलेक्ट्रॉड 5 विभव को शून्य माना जाता है

 

  1. A व B का ऑक्सीकृत विभव क्रमशः +2.37 व 1.66 वोल्ट होता है। एक रासायनिक अभिक्रिया में

(A) A, B द्वारा प्रतिस्थापित होगा
(B) A, B को प्रतिस्थापित करेगा
(C) A, B को प्रतिस्थापित नहीं करेगा
(D) A व B एक-दूसरे को प्रतिस्थापित नहीं करेंगे

show answer
(B) A, B को प्रतिस्थापित करेगा

 

  1. एक सेल का विवा०ब० अपचयन विभव के शब्दों में अपने वायें व बारे इलेक्ट्रोडों के लिए होता है।

(A) E = E बांया -E दांया
(B) E = E बांया + E दांया
(C) E = E दांया – E बांया
(D) E = E दांया + E बांया

show answer
(C) E = E दांया – E बांया

 

  1. Zn(s) | Zn 2+ (aq.)||Cu2+(aq.)|Cu(s) है।

ऐनोड कैथोडा

(A) वेस्टन सेल
(B) डैनियल सेल
(C) केलोमेल सेल
(D) मानक सेल

show answer
(B) डैनियल सेल

 

  1. Cd2+, Ag+ व Fe2+ का मानक अपचयन विभव क्रमशः 0.40, + 0.80 तथा – 0.40 होता है। निम्न में से सबसे प्रबल अपचायक है ?

(A) Cd2+
(B) Ag2+
(C) Fe2+
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(C) Fe2+

 

  1. सेल अभिक्रिया में Cu(s) + 2Ag+(aq.) → Cu2+(aq.) + 2Ag(s)
    E०सेल = +0.46 V Cu+2 आयनों की सान्द्रता को दोगुना करके E०सेल हो जाता है

(A) दोगुना
(B) आधा
(C) दोगुने से थोड़ा कम बढ़ जाता है
(D) अपरिवर्तित

show answer
(D) अपरिवर्तित

 

  1. दो इलेक्ट्रॉन आवेशों को प्रयुक्त करनेवाली सेल अभिक्रिया के लिए सेल का मानक वि०वा०ब० 25°C पर 0.295 V पाया गया। 25°C पर अभिक्रिया का साम्य स्थिरांक होगा ?

(A) 29.5 x 10-2
(B) 10
(C) 1 x 1010
(D) 1 x 10-10

show answer
(C) 1 x 1010

 

  1. हाइड्रोजन ऑक्सीजन ईंधन सेल में, हाइड्रोजन का दहन होता है जो

(A) अत्यधिक शुद्ध जल उत्पन्न करता है
(B) दो इलेक्ट्रोडों के बीच विभवान्तर उत्पन्न करता है
(C) ऊष्मा उत्पन्न करता है
(D) इलेक्ट्रॉन सतह से अवशोषित ऑक्सीजन निकालता है

show answer
(B) दो इलेक्ट्रोडों के बीच विभवान्तर उत्पन्न करता है

 

  1. स्वतः अभिक्रिया के लिए AG, साम्य स्थिरांक K व E सेल क्रमशः होगा

(A) –ve > 1 + ve
(B) +ve > 1 >-ve
(C) –ve > 1 <-ve (D) -ve > 1 >-ve

show answer
(A) –ve > 1 + ve

 

  1. तापमान में वृद्धि के साथ धातु की चालकता

(A) बढ़ती है
(B) घटती है
(C) अपरिवर्तित रहती है स
(D) दुगुनी होती है

show answer
(B) घटती है

 

  1. चालक की चालकता एवं प्रतिरोध निम्नांकित से किस प्रकार संबंधित है ?

(A) c α R
(B) c = R
(C) c = 1/R
(D) c= iR

show answer
(C) c = 1/R

 

  1. विधुत अपघट्य की विशिष्ट एवं तुल्यांकी चालकता दोनों के बीच का संबंध है

(A) ∧v =Kv
(B) ∧v = Kv/ν
(C) ∧v = 2Kv
(D) ∧v = Kvv

show answer
(D) ∧v = Kvv

 

  1. सेल-स्थिरांक ज्ञात करने के लिए निम्नांकित में से किस सम्बन्ध का उपयोग करते है ?

(A) x = Kv + c
(B) x = Kv – c
(C) x = kv/c
(D) x = c/kv

show answer
(C) x = kv/c

 

  1. घोल की तुल्यांकी चालकता, विशिष्ट चालकता एवं सामान्यता में सम्बन्ध है

(A) Av = Kv+ c
(B) Kv = Av/c
(C) Av = Kv + c
(D) Av = 1000/c kv

show answer
(D) Av = 1000/c kv

 

  1. वह उपकरण जिसमें ईंधन जैसे हाइड्रोजन और मिथेन के दहन ऊर्जा का सीधे विधुत ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है, कहते हैं।

(A) डायनेमो
(B) Ni-cd सेल
(C) ईंधन सेलामा
(D) इलेक्ट्रोलाइटिक सेल

show answer
(C) ईंधन सेलामा

 

  1. फैराडे का विधुत विच्छेदन का द्वितीय नियम सम्बन्धित है

(A) धनायन के परमाणु संख्या से
(B) विधुत के समतुल्य भार से
(C) ऋणायन के परमाणु संख्या से
(D) धनायन के वंग से

show answer
(B) विधुत के समतुल्य भार से

 

  1. अर्द्ध सेल अभिक्रिया के लिए स्टैण्डर्ड (मानक) इलेक्ट्रोड विभव है:
    Zn → Zn++ + 2e-
    E° = + 0.76 V
    Fe → Fe++ + 2e–E° = + 0.41 V

सेल अभिक्रिया का विधुत वाहक बल Zn + Fe++ →Zn++ Fe हैं

(A) -0.35 v
(B) + 0.35v (C) –1.17v
(D) +1.17v

show answer
(B) + 0.35v (C) –1.17v

 

  1. निम्नलिखित में एक आयनिक यौगिक है

(A) अल्कोहल
(B) हाइड्रोजन क्लोराइड
(C) शक्कर
(D) सोडियम नाइट्रेट

show answer
(D) सोडियम नाइट्रेट

 

  1. सोडियम फ्लोराइड के जलीय घोल का विधुत विच्छेदन कराने पर धनोद एवं ऋणोद पर प्राप्त प्रतिफल है

(A) F2, Na
(B) F2, H2
(C) 02, Na
(D) 02, H2

show answer
(D) 02, H2

 

youtube channel
Whatsapp Channel
Telegram channel

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top