विधुत आवेश तथा क्षेत्र

  1. किसी वस्तु पर आवेश की न्यूनतम मात्रा कम नहीं हो सकती है
Whatsapp Group
youtube

Class 12th Model SET 2023 Download
(A) 1.6 x 10-19 कूलम्ब से
(B) 3.2 x 10-19 कूलम्ब से
(C) 4.8 x 10-19 कूलम्ब से
(D) 1 कूलम्ब से

show answer
(A) 1.6 x 10-19 कूलम्ब से

 

  1. एक लंबे समरूप आविष्ट सीधे तार से दूरी ‘r’ पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता E1 एवं दूरी 2r पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता E2 है। E1 एवं E2 का अनुपात होगा :

(A) 1/2
(B) 2/1
(C) 1/1
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) 2/1

 

  1. एक विद्युत द्विध्रुव के अक्ष पर r दूरी पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता E1 तथा लम्ब-अर्द्धक रेखा पर r दूरी पर तीव्रता E2 है। E1 एवं E2 के बीच का कोण 0 है। E1 : E2 एवं 0 होंगे।

(A) 1 : 1, π
(B) 1 : 2, π/2
(C) 2 : 1, π
(D) 1 : 3, π

show answer
(C) 2 : 1, π

 

  1. आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय के साथ 90°का कोण बनाता है, तब इस पर लगा बल आघूर्ण –

(A) आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र X के साथ 90°का कोण बनाता है
(B) आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र.के साथ 90°का कोण बनाता है
(C) pE
(D) p/E

show answer
(A) आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र X के साथ 90°का कोण बनाता है

 

  1. आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र के साथ के साथ 90° का कोण बनाता है, तब इस पर लगा बल आघूर्ण –

(A) pE
(B) zero
(C) 1/2pE
(D) 2pE

show answer
(A) pE

 

  1. आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र आघूर्ण वाला द्विध्रुव अधिकतम बल आघूर्ण तब अनुभव करेगा घूर्ण वाला द्विध्रुव अधिकतम बल आघूर्ण तब अनुभव करेगा तथा आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र के साथ के बीच कोण हो –

(A) 0°
(B) 90°
(C) 60°
(D) 30°

show answer
(B) 90°

 

  1. एक वैद्युत द्विध्रुव के केन्द्र से 100 cm की दूरी पर दो बिन्दु A तथा B स्थित हैं।A अक्षीय बिन्दु है जबकि B निरक्षीय। वैद्युत क्षेत्र की तीव्रता A पर आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय तब B पर तीव्रता होगी –

(A) के साथ 90°का कोण बनाता है
(B) 2के साथ 90°का कोण बनाता है
(C) – के साथ 90°का कोण बनाता है
(D) – द्विध्रुव के केन्द्र से 100 cm की दूरी पर

show answer
(D) – द्विध्रुव के केन्द्र से 100 cm की दूरी पर

 

  1. दो वैद्युत क्षेत्र रेखाएँ एक-दूसरे को किस कोण पर काटती हैं ?

(A) 90°
(B) 45°
(C) 30°
(D) नहीं काटती हैं

show answer
(D) नहीं काटती हैं

 

  1. विद्युत आवेश का क्वांटम e.s.u.मात्रक में होता है

(A) 4.78 x 10-10
(B) +1.6 x 10-19
(C) 2.99 x 109
(D) -1.6 x 10-19

show answer
(A) 4.78 x 10-10

 

  1. एक विधुतीय द्विध्रुव दो विपरीत आवेशों से बना है जिनके परिणाम +3.2 x 10-19 C एवं -3.2 x 10-19C हैं और उनके बीच की दूरी 2.5 x 10-10 m है। विधुतीय द्विध्रुव का आघूर्ण है

(A) 7.68 x 10-27 C m
(B) 7.68 x 10-29 C m
(C) 7.86 x 10-29 C m
(D) 7:86 x 10-27 C m

show answer
(B) 7.68 x 10-29 C m

 

  1. स्थिर विधुतीय क्षेत्र होता है

(A) संरक्षी
(B) असंरक्षी
(C) कहीं संरक्षी तथा कहीं असंरक्षी
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) संरक्षी

 

  1. मूलबिन्दु पर एक धन बिन्दु आवेश Q स्थित है जबकि x = 2cm पर एक बिन्दु धन आवेश 2Q स्थित है –

(A) आवेशों के निकट x-अक्ष के बाहर स्थित बिन्दु पर वैद्युत क्षेत्र शून्य हो सकता है।
(B) आवशो के निकटx-अक्ष के बाहर स्थित बिन्दु पर वैद्युत क्षेत्र की तीवता हो सकती है।
(C) आवेशों के बीच किसी बिन्दु पर वैद्युत क्षेत्र की तीव्रता शून्य हो सकती है
(D) आवेशों के बाहर कुछ निश्चित बिन्दुओं पर क्षेत्र की तीव्रता शून्य हो सकती है,

show answer
(C) आवेशों के बीच किसी बिन्दु पर वैद्युत क्षेत्र की तीव्रता शून्य हो सकती है

 

  1. एक वैद्युत द्विध्रुव को वैद्युत क्षेत्र में रखा जाता है जो y-अक्ष पर दिष्ट है, x-अक्ष की ओर जाने पर बदलता है पर y एवं z-अक्ष की ओर अचर रहता है। यदि द्विध्रुव x-अक्ष पर स्थित हो तो कुल बल –एक वैद्युत द्विध्रुव को वैद्युत क्षेत्र में रखा जाता है जो

(A) x-अक्ष की ओर होगा
(B) y-अक्ष की ओर होगा ।
(C) z-अक्ष की ओर होगा ।
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) x-अक्ष की ओर होगा

 

  1. एक ही पदार्थ के धातु के दो गोले A तथा B दिये गये हैं। एक पर +Q आवेश तथा दूसरे पर -Q आवेश दिया गया है

(A) A का द्रव्यमान बढ़ जाएगा
(B) B का द्रव्यमान बढ़ेगा ।
(C) द्रव्यमान पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) B का द्रव्यमान बढ़ेगा ।

 

  1. इलेक्ट्रॉन का विशिष्ट आवेश होता है –

(A) 1.8 x 1011 C/kg
(B) 1.8 x 10-19 C/kg
(C) 1.9 x 10-19 C/kg
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) 1.8 x 1011 C/kg

 

  1. डिबाई मात्रक है –

(A) आवेश का
(B) विभव का
(C) विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण का
(D) कोई नहीं

show answer
(C) विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण का

 

  1. एक आवेशित चालक की सतह के किसी बिन्दु पर विद्युतीय क्षेत्र की तीव्रता

(A) शून्य होती है
(B) सतह के लंबवत् होती है
(C) सतह के स्पर्शीय होती है
(D) सतह पर 45° पर होती है

show answer
(B) सतह के लंबवत् होती है

 

  1. 1 कूलॉम आवेश बराबर होता है –

(A) 2.99 x 109 e.s.u.
(B) 9 x 109 e.s.u.
(C) 8.85 x 10-12 e.s.u.
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) 2.99 x 109 e.s.u.

 

  1. यदि गोले पर आवेश 10μC हो, तो उसकी सतह पर विद्युतीय फ्लक्स है

(A) 36π x 104 Nm2/C
(B) 36π x 10-4 Nm2/C
(C) 36π x 106 Nm2/c
(D) 36π x 10-6 Nm2/c

show answer
(C) 36π x 106 Nm2/c

 

  1. चित्र दर्शाता है कि दो आवेशों q1 और q2 के कारण विद्युत क्षेत्र रेखा पर आवेशों का बाहरी चिन्ह क्या है ?चित्र दर्शाता है कि दो आवेशों(A) दोनों ऋणात्मक
    (B) ऊपर धनात्मक तथा नीचे ऋणात्मक
    (C) दोनों धनात्मक
    (D) ऊपर ऋणात्मक और नीचे धनात्मक
show answer
(A) दोनों ऋणात्मक

 

  1. एक पिण्ड पर आवेश लिखा जाता है Q = ne, जहाँ e = 1.6 x 10-19 C जहाँ n के मान हैं

(A) 0, 2, 3, …….
(B) 0, ± 1, ± 2, 3, …..
(C) 0, -1, -2,-3, …..
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) 0, ± 1, ± 2, 3, …..

 

  1. एक विद्युत क्षेत्र में एक द्विध्रुव को X-अक्ष के समानान्तर रखा जाता है। द्विध्रुव पर बल

(A) शून्य होगा
(B) X-अक्ष पर लंब होगा
(C) X-अक्ष के अनु
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(C) X-अक्ष के अनु

 

  1. एक विद्युत क्षेत्र में एक द्विध्रुव का आघूर्ण आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र = pÎ है। इस पर लगता बल आघूर्ण होगा –

(A) z-अक्ष की ओर
(B) y-अक्ष की ओर
(C) x-अक्ष की ओर
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) z-अक्ष की ओर

 

  1. X-अक्ष पर x = 0 पर q तथा x = a पर 2q आवेश रखे हैं। E का मान शून्य होगा –

(A) 0 < x < a (B) x > a
(C) x < 0
(D) x < a

show answer
(C) x < 0

 

  1. X-अक्ष पर x = 0 पर q तथा x = a पर 2q आवेश रखे हैं। आवेश q से N1 तथा आवेश 2q से N2 क्षेत्र रेखाएँ निकलती हैं। तब आवेश रखे हैं। आवेश होगी –

(A) 1
(B) 2
(C) आवेश रखे हैं। आवेश
(D) 4

show answer
(C) आवेश रखे हैं। आवेश

 

  1. किसी वस्तु पर आवेश की न्यूनतम मात्रा कम नहीं हो सकती।

(A) 1.6 x 10-19 C
(B) 3.2 x 10-19 C
(C) 4.8 x 10-19 C
(D) 1 C

show answer
(A) 1.6 x 10-19 C

 

  1. जब कोई वस्तु ऋणावेशित हो जाती है तो इसका द्रव्यमान क्या होता है।

(A) घटता है
(B) बढ़ता है
(C) वही रहता है
(D) इनमें से कोई नहीं

Show Answer

  1. किसी वस्तु पर आवेश का कारण है।

(A) न्यूट्रॉन का स्थानांतरण
(B) प्रोटॉन का स्थानांतरण
(C) इलेक्ट्रॉन का स्थानांतरण
(D) प्रोटॉन तथा न्यूट्रॉन दोनों का स्थानांतरण

show answer
(C) इलेक्ट्रॉन का स्थानांतरण

 

  1. विद्युतीय क्षेत्र का विमीय सूत्र है

(A) [MLT-3 A-1]

(B) [ML2 TA-1]

(C) [MLT2 A-1]

(D) [MLTA2]

 

show answer
(A) [MLT-3 A-1]

 

  1. 1 स्टैट कूलाम =………. कूलाम।

(A) 3 x 109
(B) 3 x 10-9
(C) स्टैट कूलाम x 109
(D) स्टैट कूलाम x 109

show answer
(D) स्टैट कूलाम x 109

 

  1. एक आवेशित चालक का क्षेत्र आवेश घनत्व σ है। इसके पास विद्युत क्षेत्र का मान होता है

(A) σ/ 2 ∈0
(B) σ/ ∈0
(C) 2σ/ ∈0
(D) σ/ 3 ∈0

show answer
(B) σ/ ∈0

 

  1. 1 कूलॉम आवेश बराबर होता है –

(A) 3 x 109 e.s.u.
(B) _9 x 109 e.s.u.
(C) –8.85 x 10-12 e.s.u.
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) 3 x 109 e.s.u.

 

  1. किसी आवेशित खोखले गोलाकार चालक के भीतर विद्युतीय तीव्रता का मान होता है –

(A) E0σ
(B) σ/E0
(C) zero
(D) E0/2

show answer
(C) zero

 

  1. वायु में एक-दूसरे से 30 cm की दूरी पर स्थित दो आवेशित कणों के आवेश क्रमश: 2 x 10-7 C तथा 3 x 10-7 C हैं। इनके बीच लगते बल का परिणाम है –

(A) 6 mN
(B) 8 mN
(C) 10 mN
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) 6 mN

 

  1. राशि जहाँ संकेत सामान्य हैं, का विमीय सूत्र है,जहाँ संकेत सामान्य हैं, का विमीय सूत्र है।

(A) [MLT-1 A-1]

(B) [ML2T-3 A-1]

(C) [M°L°T°A°]

(D) [ML°T°A]

 

show answer
(C) [M°L°T°A°]

 

  1. एक समान वैद्युत क्षेत्र में तीन पथ चिह्न I, II एवं III दिखाये गये हैं –

एक समान वैद्युत क्षेत्र में तीन पथ चिह्न I, II एवं III दिखाये गये हैं

(A) पथचिह्न I धनावेशित कण का है
(B) पथचिह्न II ऋणावेशित कण का है
(C) पथचिह्न III उदासीन कण का है
(D) पथचिह्न III धनावेशित कण का है

show answer
(D) पथचिह्न III धनावेशित कण का है

 

  1. कूलम्ब बल है –

(A) केन्द्रीय बल
(B) विद्युत बल \
(C) दोनों (A) तथा (B)
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(C) दोनों (A) तथा (B)

 

  1. आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्रआघूर्ण वाला एक विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय तीव्रता वाले विद्युतीय क्षेत्र में रखा जाए, तो उस पर लगने वाला टार्क होगा

(A) आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्रxके साथ 90°का कोण बनाता है
(B) आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्र.के साथ 90°का कोण बनाता है
(C) pE
(D) आघूर्ण वाला एक विद्युत द्विध्रुव

show answer
(A) आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय क्षेत्रxके साथ 90°का कोण बनाता है

 

  1. एक वैद्युत द्विध्रुव से 100 cm की दूरी पर दो बिन्दु A तथा B स्थित हैं। A अक्षीय बिन्दु है जबकि B लम्बवत् द्विभाजक है। वैद्युत क्षेत्र की तीव्रता A पर आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय तब B पर तीव्रता होगी –

(A) के साथ 90°का कोण बनाता है
(B) 2के साथ 90°का कोण बनाता है
(C) –के साथ 90°का कोण बनाता है
(D) – की दूरी पर दो बिन्दु A तथा B स्थित हैं

show answer
(D) – की दूरी पर दो बिन्दु A तथा B स्थित हैं

 

  1. किसी आवेशित बेलन के नजदीक किसी बिन्दु पर विद्युत् तीव्रता E का मान होता है –

(A) किसी आवेशित बेलन के नजदीक किसी बिन्दु पर
(B) किसी आवेशित बेलन के नजदीक किसी बिन्दु पर
(C) किसी आवेशित बेलन के नजदीक किसी बिन्दु पर
(D) शून्य

show answer
(B) किसी आवेशित बेलन के नजदीक किसी बिन्दु पर

 

  1. एक विद्युत् द्वि-ध्रुव एक पृष्ठ से घिरा हुआ है। पृष्ठ पर कुल फ्लक्स होगा –

(A) अनंत
(B) शून्य
(C) आवेश पर निर्भर
(D) द्विध्रुव की स्थिति पर निर्भर

show answer
(B) शून्य

 

  1. किसी वस्तु पर 1 कूलम्ब आवेश तब संभव है जब उससे निकाले गए इलेक्ट्रॉनों की संख्या होगी –

(A) 6.25 x 10-19
(B) 6.25 x 1019
(C) 6.25 x 1018
(D) 6.25 x 10-10

show answer
(C) 6.25 x 1018

 

  1. किसी अनावेशित वस्तु पर एक कूलम्ब आवेश होने के लिए उसमें से निकाले गये इलेक्ट्रॉनों की संख्या होगी

(A) 6.25 x 1018
(B) 6.25 x 1018
(C) 6.023 x 1023
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) 6.25 x 1018

 

  1. एक वैद्युत द्विध्रुव एक पृष्ठ से घिरा हुआ है। पृष्ठ पर कुल विद्युत फ्लक्स होगा –

(A) अनंत
(B) शून्य
(C) q/∈0
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) शून्य

 

  1. किसी आवेश से अनंत दूरी पर उस आवेश के कारण विद्युत क्षेत्र की तीव्रता होती है –

(A) अनंत
(B) शून्य
(C) 9 x 109 Vm-1
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) शून्य

 

  1. यदि दो आवेशों की दूरी बढ़ा दी जाये तो आवेशों के विद्युतीय स्थितिज उर्जा का मान –

(A) बढ़ जाएगा
(B) घट जाएगा
(C) अपरिवर्तित रहेगा
(D) बढ़ भी सकता है घट भी सकता है

show answer
(D) बढ़ भी सकता है घट भी सकता है

 

  1. किसी आवेशित गोलीय खोखले चालक के भीतर विद्युत तीव्रता होती है –

(A) अनंत
(B) शून्य
(C) धनात्मक एवं 1 से अधिक
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) शून्य

 

  1. फ्लक्स घनत्व का मात्रक होता है –

(A) वेबर
(B) टेसला
(C) न्यूटन / मी
(D) मी2/से

show answer
(B) टेसला

 

  1. आवेश A एवं B एक-दूसरे को आकर्षित करते हैं। आवेश B एवं C भी एक-दूसरे को आकर्षित करते हैं। तब A एवं C-

(A) आकृष्ट होंगे
(B) प्रतिकर्षित होंगे
(C) एक-दूसरे को प्रभावित नहीं करेंगे
(D) और अधिक सूचना चाहिए

show answer
(B) प्रतिकर्षित होंगे

 

  1. एक अनावेशित धातुकण को एक धनावेशित धातु प्लेट के नजदीक लाया जाता है। धातु कण पर विद्युतीय बल होगा –

(A) प्लेट की तरफ
(B) प्लेट से दूर
(C) प्लेट के समांतर
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) प्लेट की तरफ

 

  1. दो चालकों के बीच आवेश के वितरण से होने वाली ऊर्जा की हानि निर्भर करती है –

(A) विभवांतर के
(B) विभवांतर के वर्ग पर
(C) धारिता पर
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) विभवांतर के वर्ग पर

 

  1. एक बिन्दु आवेश (q) को एक-दूसरे बिन्दु आवेश Q के चारों तरफ वृत्ताकार पथ पर घुमाया जाता है। विद्युत क्षेत्र के द्वारा किया गया कार्य होगा –

(A) शून्य
(B) धनात्मक
(C) ऋणात्मक
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) शून्य

 

  1. आवेश का S.I. मात्रक होता है

(A) एम्पीयर (A)
(B) फैराड (F)
(C) वोल्ट (V)
(D) कूलम्ब (C)

show answer
(D) कूलम्ब (C)

 

  1. आवेश की विमा है –

(A) [AT]

(B) [LAT]

(C) [AT-1]

(D) [AT-2]

 

show answer
(A) [AT]

 

  1. इलेक्ट्रॉन पर आवेश बराबर होता है –

(A) 2 x 10-21 C
(B) 1.6 x 10-19 C
(C) 1.6 x 10-20 C
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(B) 1.6 x 10-19 C

 

  1. निम्नलिखित में किसका अस्तित्व संभव नहीं है –

(A) 3.2 x 10-19 C
(B) 6.4 x 10-19 C
(C) 2.4 x 10-19 C
(D) 1.6 x 10-19 C

show answer
(C) 2.4 x 10-19 C

 

  1. स्थिर विद्युत् आवेशों के बीच लगता बल किस नियम से दिया जाता है ?

(A) गॉस का प्रमेय
(B) किरचॉफ के नियम
(C) कूलम्ब के नियम
(D) फैराडे के नियम

show answer
(C) कूलम्ब के नियम

 

  1. दो आवेशों के बीच की दूरी दुगुनी करने के बीच का बल –

(A) दुगुना हो जाता है
(B) आधा हो जाता है
(C) चार गुना हो जाता है
(D) चौथाई हो जाता है

show answer
(D) चौथाई हो जाता है

 

  1. 1 कूलम्ब वह आवेश है जो शून्य में 1 मीटर की दूरी पर स्थित समान आवेश पर बल लगाता है –

(A) 1 N
(B) 9 x 10-9N
(C) 9x 109N
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(C) 9x 109N

 

  1. मुक्त आकाश (Free space) की परावैद्युतता (∈0) होती है –

(A) 9 x 109 mF-1
(B) 1.6 x 10-19 C
(C) 8.85 x 10-12 Fm-1
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(C) 8.85 x 10-12 Fm-1

 

  1. राशि का मान होता है का मान होता है

(A) 9 x 109 Nm2C-2
(B) 8.85 x 10-12 Nm2C-2
(C) 9 x 10-9 Nm2C-2
(D) शून्य

show answer
(A) 9 x 109 Nm2C-2

 

  1. किसी माध्यम की आपेक्षिक परावैद्युतता (∈ r) बराबर होती है –

(A) किसी माध्यम की आपेक्षिक परावैद्युतता
(B) ∈ x ∈0
(C) ∈ + ∈0
(D) ∈ – ∈0

show answer
(A) किसी माध्यम की आपेक्षिक परावैद्युतता

 

  1. विद्युतशीलता (x) का मात्रक होता है –

(A) न्यूटन/मी० Nm-1
(B) फैराडे/मी० Fm-1
(C) कूलम्ब/वोल्ट CV-1
(D) इनमें से कोई नही

show answer
(B) फैराडे/मी० Fm-1

 

  1. किसी विद्युतीय क्षेत्र में किसी बिन्दु पर परीक्षण आवेश (test charge) q0 पर लगा विद्युत् बल हो किसी विद्युतीय क्षेत्र में किसी बिन्दु पर परीक्षण तो उस बिन्दु पर विद्युत् तीव्रता (आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय) होगी।

(A) के साथ 90°का कोण बनाता है=आघूर्ण वाला एक विद्युत द्विध्रुव
(B) के साथ 90°का कोण बनाता है = q0 आघूर्ण वाला एक विद्युत द्विध्रुव
(C) के साथ 90°का कोण बनाता है = किसी विद्युतीय क्षेत्र में किसी
(D) के साथ 90°का कोण बनाता है =q20F

show answer
(A) के साथ 90°का कोण बनाता है=आघूर्ण वाला एक विद्युत द्विध्रुव

 

  1. विद्युत् क्षेत्र की तीव्रता (Electric field intensity) का मात्रक होता है –

(A) न्यूटन/कूलम्ब (NC)
(B) न्यूटन/कूलम्ब (NC-1)
(C) वोल्ट/मी० (Vm)
(D) कूलम्ब/न्यूटन (CN-1)

show answer
(B) न्यूटन/कूलम्ब (NC-1)

 

  1. विद्युत् क्षेत्र की तीव्रता की विमा है –

(A) [MLT-2 A-1]

(B) [MLT-3 A-1]

(C) [ML2T-3 A-2]

(D) [ML2T2A2]

 

show answer
(A) [MLT-2 A-1]

 

  1. समरूप विद्युत् क्षेत्र की तीव्रता आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय हो तब इसमें रखे गए +q आवेश पर लगा बल होगा –

(A) आघूर्ण वाला एक विद्युत द्विध्रुव = q के साथ 90°का कोण बनाता है

(B) आघूर्ण वाला एक विद्युत द्विध्रुव = समरूप विद्युत् क्षेत्र की तीव्रता

(C) आघूर्ण वाला एक विद्युत द्विध्रुव = q2 के साथ 90°का कोण बनाता है
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) आघूर्ण वाला एक विद्युत द्विध्रुव = q के साथ 90°का कोण बनाता है

 

  1. एक बिन्दु-आवेश Q से r दूरी पर विद्युत्-क्षेत्र की तीव्रता का परिणाम होता है –

एक बिन्दु-आवेश Q से r दूरी पर विद्युत्-क्षेत्र की तीव्रता

 

  1. एक प्रोटॉन एवं इलेक्ट्रॉन को समान विद्युत्-क्षेत्र में रखा जाता है –

(A) उन पर लगा विद्युत् बल बराबर होंगे
(B) विद्युत् बलों के परिणाम बराबर होंगे
(C) उनके त्वरण बराबर होंगे
(D) उनके त्वरण के परिणाम बराबर होंगे

show answer
(B) विद्युत् बलों के परिणाम बराबर होंगे

 

  1. निम्नलिखित में कौन सदिश राशि है ?

(A) आवेश
(B) धारिता
(C) विद्युत्-तीव्रता
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(C) विद्युत्-तीव्रता

 

  1. विद्युत्-विभव का मात्रक वोल्ट है और यह तुल्य है –

(A) जूल/कूलम्ब
(B) जूल x कूलम्ब
(C) कूलम्ब/जूल
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(A) जूल/कूलम्ब

 

  1. साबुन के एक बुलबुले को जब आवेशित किया जाता है तो उसकी त्रिज्या –

(A) बढ़ती है
(B) घटती है
(C) अपरिवर्तित रहती है।
(D) शून्य हो जाता है

show answer
(A) बढ़ती है

 

  1. विद्युत् द्वि-ध्रुव आघूर्ण का S.I. मात्रक होता है।

(A) कूलम्ब x मी० (C x m)
(B) कूलम्ब / मीटर C/ m
(C) कूलम्ब-मी०-2 (C x m2)
(D) कूलम्ब2 x मीटर (C2 m)

show answer
(A) कूलम्ब x मी० (C x m)

 

  1. पाँच विद्युतीय द्विध्रुव, जो प्रत्येक±qआवेश से बना है। दूरी से पृथक् है, घिरे पृष्ठ में रखा जाता है। पृष्ठ के ऊपर कुल फ्लक्स होगा –

(A) 10π q
(B) 20π q
(C) 5π 9
(D) शून्य

show answer
(D) शून्य

 

  1. तीन बिन्दुओं 4g, Q तथा q एक सरल रेखा पर क्रमशः 0, 1/2 तथा 1 दूरी पर रखे हैं। यदि आवेश q पर परिणामी बल शून्य है तो Q का मान होगा –

(A) -q
(B) -2q
(C) -q/2
(D) 4q

show answer
(A) -q

 

  1. एक समान विद्युत् क्षेत्र में द्विध्रुव पर आरोपित बल युग्म आघूर्ण अधिकतम है जबकि द्विध्रुव की अक्ष तथा क्षेत्र की दिशा के बीच का कोण है –

(A) शून्य
(B) 90°
(C) 180°
(D) 45°

show answer
(B) 90°

 

  1. यदि किसी अल्प क्षेत्र dA पर विद्युतीय तीव्रताआघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीयअभिलम्ब हो, तब उस क्षेत्र पर ट विद्युत् फ्लक्स होगा –

(A) E . dA
(B) शून्य
(C) EdA cos0
(D) EdA sin0

show answer
(A) E . dA

 

  1. किसी घिरे सतह पर कुल विद्युत् फ्लक्स पृष्ठ के भीतर स्थिर कुल आवेश का –

(A) 1/∈0 गुना
(B) 1/4π गुना
(C) ∈0 गुणा
(D) शून्य होता है

show answer
(A) 1/∈0 गुना

 

  1. किसी आवेशित समतल चादर के नजदीक विद्युत् तीव्रता E का मान होता है –

(A) σ/∈0
(B) σ/2∈0
(C) σ x ∈0
(D) शून्य

show answer
(B) σ/2∈0

 

  1. किसी आवेशित चालक के नजदीक विद्युत् तीव्रता आघूर्ण वाला एक विद्युतीय द्विध्रुव विद्युतीय का मान होता है –

(A) σ/∈0
(B) σ/2∈0
(C) σ x ∈0
(D) शून्य

show answer
(A) σ/∈0

 

  1. किसी अचालक पदार्थ के गोले को आवेश देने पर वह वितरित होता है –

(A) सतह पर
(B) सतह के अलावा अंदर भी
(C) केवल भीतर
(D) इनमें से कोई नहीं

show answer
(D) इनमें से कोई नहीं

 

  1. चित्रानुसार बिन्दु A, B तथा C पर तीव्रता क्रमशः EA, EB तथा EC हो तो –

चित्रानुसार बिन्दु(A) EA > EB > Ec
(B) EA = EB = Ec
(C) EA = EC > EB
(D) EA = EC = EB

show answer
(C) EA = EC > EB

 

  1. चालक पदार्थ से बने असीमित आवेशित पतली चादर की सतह के निकट स्थित किसी बिन्दु पर विद्युतीय क्षेत्र का मान होता है –

(A) ∈0σ
(B) σ/∈0
(C) σ/2∈0
(D) 1/2 σ∈0

show answer
(B) σ/∈0

 

  1. दिए गये चित्र में, यदि आवेश Q पर कुल प्रभावी बल शून्य है, तो Q/q का मान है –

दिए गये चित्र में, यदि आवेश Q पर कुल प्रभावी बल शून्य है, तो Qq का मान है

(A) दिए गये चित्र में, यदि आवेश Q पर कुल प्रभावी बल शून्य है, तो Qq का मान है
(B) दिए गये चित्र में, यदि आवेश Q पर कुल प्रभावी बल शून्य है, तो Qq का मान है
(C) दिए गये चित्र में, यदि आवेश Q पर कुल प्रभावी बल शून्य है, तो Qq का मान है
(D) दिए गये चित्र में, यदि आवेश Q पर कुल प्रभावी बल शून्य है, तो Qq का मान है

show answer
(B) दिए गये चित्र में, यदि आवेश Q पर कुल प्रभावी बल शून्य है, तो Qq का मान है

 

  1. जब किसी वस्तु को आवेशित किया जाता है, तो उसका द्रव्यमान –

(A) बढ़ता है
(B) घटता है
(C) अचर रहता है
(D) बढ़ या घट सकता है

show answer
(D) बढ़ या घट सकता है

 

youtube channel
Whatsapp Channel
Telegram channel

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top