पृष्ठ रसायन

Whatsapp Group
youtube

(कोलॉइडी विलयन में कोलॉइडी कणों का आकार होता है
(A) 10-6 – 10-9 m
(B) 10-9-10-12 m
(C) 10-5-10-9 m
(D) 10-12 – 10-19 m
show answer

(A) 10-6 – 10-9 m

निम्नलिखित में किस धातु का निष्कर्षण मैक आर्थर विधि से किया जाता है?
(A) Ag
(B) Fe
(C) Cu
(D) Na
show answer

(A) Ag

लवण-सेतु में KCI प्रयुक्त होता है, क्योंकि
(A) यह एक वैधुत अपघट्य है ।
(B) यह वैधुत का सुचालक है
(C) यह जिलेटिन के साथ गाढ़ा विलयन बनाता है।
(D) K+और C1–आयनों के चालकत्व लगभग बराबर है।
show answer

(D) K+और C1–आयनों के चालकत्व लगभग बराबर है।

दूध है
(A) जल में परिक्षेपित वसा
(B) वसा में परिक्षेपित जल
(C) तेल में परिक्षेपित वसा
(D) तेल में परिक्षेपित जल
show answer

(A) जल में परिक्षेपित वसा

किसी गैस के ठोस सतह पर अधिशोषण की मात्रा निर्भर करती है
(A) गैस के ताप पर
(B) गैस के दाब पर
(C) गैस की प्रवृत्ति पर
(D) उपर्युक्त में सभी पर
show answer

(D) उपर्युक्त में सभी पर

निम्नलिखित में कौन-सी धातु प्रकृति में मुक्त अवस्था में पायी जाती है ?
(A) सोडियम
(B) लोहा
(C) जिंक
(D) प्लैटिनम
show answer

(D) प्लैटिनम

Which of the following gases is readily absorbed by active charcoal ?
(A) N2
(B) O2
(C) H2
(D) SO2
show answer

(D) SO2

2SO2(g) + O2(g) → V2O5(s)25O3 → एक उदाहरण है ।
(A) समांग उत्प्रेरण का
(B) विषमांग उत्प्रेरण का
(C) ऋणात्मक उत्प्रेरण का
(D) आकृति चयनात्मक उत्प्रेरण का
show answer

(B) विषमांग उत्प्रेरण का

लोहा धातु के निष्कर्षण में प्रद्रावण की विधि में बनने वाले धातुमल की रासायनिक संरचना है
(A) Cu2O+ FeS
(B) Fe2O3
(C) FeSiO3
(D) CaSiO3
show answer

(D) CaSiO3

मान्ड विधि द्वारा कौन धातु शद्ध किया जाता है ?
(A) Ti
(B) Zn
(C) Ni
(D) Fe
show answer

(C) Ni

सभी लेन्थेनॉयड के लिए कौन-सी निम्नलिखित ऑक्सीकरण अवस्था सामान्य है
(A) +2
(B) +3
(C) +4
(D) +5
show answer

(B) +3

धातु आयनों की पहचान तथा मात्रात्मक आकलन के लिए अभिकर्मक प्रयुक्त होते है
(A) EDTA
(B) DMG
(C) α-nitoso-β-naphthol
(D) इनमें से सभी
show answer

(D) इनमें से सभी

निम्न में से कौन प्यूरीन व्युत्पन्न है ?
(A) साइटोसीन
(B) ग्वानीन
(C) यूरेसिल
(D) थायमीन
show answer

(B) ग्वानीन

द्रव में किसी द्रव के परिक्षेपन कहलाता है
(A) जैल
(B) फने
(C) पायस
(D) ऐरोसॉल का
show answer

(C) पायस

ब्राउनियन गति का कारण है
(A) द्रव अवस्था में ताप का उतार-चढ़ाव
(B) कोलॉइडी कणों पर आवेश का आकर्षण-प्रतिकर्षण
(C) परिक्षेपन माध्यम के अणुओं का कोलॉइडी कणों पर संघात
(D) कणों का आकार
show answer

(C) परिक्षेपन माध्यम के अणुओं का कोलॉइडी कणों पर संघात

धनात्मक सॉल के स्कंदन के लिए सर्वाधिक प्रभावी पदार्थ
(A) K4[Fe(CN)6] (B) AlCl3
(C) Cuso4
(D) C2H5OH
show answer

(A) K4[Fe(CN)6]

किसी आयन का स्कंदन प्रभाव निर्भर करता है
(A) संयोजकता के चिह्न पर
(B) संयोजकता तथा आवेश के चिह्न पर
(C) आवेश के चिह्न पर
(D) आकार पर
show answer

(B) संयोजकता तथा आवेश के चिह्न पर

क्रिस्ट लाभ कोलॉइड से भिन्न है
(A) कणों के आकृति में
(B) कणों के आकार में
(C) वैधुतीय व्यवहार में
(D) विलेयता में
show answer

(B) कणों के आकार में

ठोस पदार्थ पर किसी द्रव का परिक्षेपन कहलाता है।
(A) सॉल
(B) जैल
(C) पायस
(D) फोम
show answer

(B) जैल

सूक्ष्म विभाजित प्लैटिनम उत्प्रेरक की अधिक सक्रियता का यह भी एक कारण है कि
(A) इसके कणों का आकार लगभग परमाणु के बराबर होता है
(B) इसका अधिक बड़ा पृष्ठीय क्षेत्रफल होता है
(C) इसकी भौतिक अवस्था के कारण यह शीघ्र क्रिया करता है
(D) यह एक माध्यमिक यौगिक बनाता है
show answer

(B) इसका अधिक बड़ा पृष्ठीय क्षेत्रफल होता है

आइसक्रीम के निर्माण में जिलेटिन का उपयोग किया जाता है क्योंकि
(A) जिलेटिन से आइसक्रीम का स्वाद अच्छा हो जाता है
(B) जिलेटिन बर्फ के कणों को बांधे रखती है।
(C) जिलेटिन बर्फ के कणों का स्कंदन से रक्षण करती है
(D) जिलेटिन आइसक्रीम का मूल्य घटाने के लिए मिलायी जाती है
show answer

(C) जिलेटिन बर्फ के कणों का स्कंदन से रक्षण करती है

एल्बुमिन का स्वर्णांक जिलेटिन से अधिक परन्तु स्टार्च से कम है। गोंद का स्वर्णांक स्टार्च से कम परन्तु एल्बुमिन से अधिक है। इन द्रव-स्नेही कोलॉइडों में सबसे उत्तम रक्षी कोलॉइड है।
(A) गोंद
(B) जिलेटिन
(C) स्टार्च
(D) एल्बुमिन
show answer

(B) जिलेटिन

उस प्रक्रम को क्या कहते हैं जिसमें किसी अशुद्ध कोलाइडी विलयन में उपस्थित विलेय पदार्थों के अणु और आयन पार्चमेन्ट झिल्ली से होकर बाहर निकल जाते हैं, परन्तु कोलाइडी कण नहीं
(A) फिल्टरन
(B) पेप्टीकरण
(C) स्कंदन
(D) अपोहन
show answer

(D) अपोहन

कोलॉइडी विलयनों के स्थायित्व के लिए Ans.दायी है
(A) कोलॉइडी विलयन के कणों की वास्तविक विलयन के कणों से बड़ी साइज
(B) कोलॉइडी कणों के अधिशोषण की प्रबल प्रवृत्ति
(C) टिण्डल प्रभाव
(D) कोलॉइडी कणों का वैधुत आवेश और उनकी ब्राउनियन गति
show answer

(D) कोलॉइडी कणों का वैधुत आवेश और उनकी ब्राउनियन गति

बादल, कुहरा, कुहासा द्रव-गैस कोलॉइडी ऐरोसॉल है। धूम (smoke) किस प्रकार का कोलॉइडी तंत्र है ?
(A) ठोस-गैस
(B) गैस-द्रव
(C) द्रव-गैस
(D) गैस-ठोस
show answer

(A) ठोस-गैस

द्रव विरोधी कोलाइड कहलाते हैं
(A) उत्क्रमणीय कोलॉइड
(B) अनुत्क्रमणीय कोलाइड
(C) हाइड्रोसॉल
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(B) अनुत्क्रमणीय कोलाइड

दूध एक उदाहरण है
(A) झाग का
(B) पायस का
(C) जैल का
(D) सॉल का
show answer

(B) पायस का

किसी अभिक्रिया में उत्प्रेरक
(A) अभिक्रिया के वेग को परिवर्तित करता है
(B) सक्रियण ऊर्जा को घटाता है
(C) अभिक्रिया के अन्त में रासायनिक दृष्टिकोण से अपरिवर्तित
(D) उपरोक्त सभी
show answer

(D) उपरोक्त सभी

किस प्रकार की धातुएँ प्रभावी उत्प्रेरक बनाती है ।
(A) क्षार धातुएँ
(B) संक्रमण धातुएँ
(C) क्षारीय मृदा धातुएँ
(D) रेडियोसक्रिय धातुएँ
show answer

(B) संक्रमण धातुएँ

तापक्रम के बदलाव के प्रति संवेदनशील उत्प्रेरक है।
(A) TnO2
(B) Pt
(C) जाइमेज
(D) Ni
show answer

(C) जाइमेज

वनस्पति तेल से वनस्पति घी के निर्माण में प्रयुक्त उत्प्रेरक है
(A) Fe
(B) MO
(C) Ni
(D) Pt
show answer

(C) Ni

तेलों के हाइड्रोजनीकरण में किस उत्प्रेरक का उपयोग किया जाता है
(A) Pt
(B) Ni
(C) Mo
(D) V2O5
show answer

(B) Ni

हेबर विधि द्वारा अमोनिया के निर्माण में Fe उत्प्रेरक के लिए वद्धक का कार्य करता है
(A) Cu
(B) Mno2
(C) Ni
(D) Mo
show answer

(D) Mo

34.उत्प्रेरकीय गुण प्रायः दर्शाते हैं
(A) संक्रमण तत्त्व
(B) असंक्रमण तत्त्व
(C) अन्तः संक्रमण तत्त्व
(D) प्रारूपी तत्त्व
show answer

(A) संक्रमण तत्त्व

अम्लीय KMnO4द्वारा ऑक्जेलिक अम्ल (C2H2O4) के ऑक्सीकरण की अभिक्रिया
के लिए उत्प्रेरक है।
(A) MnO–4
(B) MnO2
(C) Mn++
(D) H+
show answer

(C) Mn++

वर्धक (Moderator) का कार्य होता है
(A) अभिक्रिया की दर को बढ़ाना
(B) उत्प्रेरक की उत्प्रेरक सक्रियता को बढ़ाना
(C) अभिक्रिया के ताप को बढ़ाना
(D) अभिक्रिया के उत्पादों की सान्द्रता को बढ़ाना
show answer

(B) उत्प्रेरक की उत्प्रेरक सक्रियता को बढ़ाना

चेम्बर विधि से H2SO4 के उत्पादन की अभिक्रिया 2SO2(g) + O2 (g) → 2SO3(g) में किस उत्प्रेरक का व्यवहार किया जाता है।
(A) Pt
(B) NO
(C) Cu
(D) Fe
show answer

(B) NO

ग्लिसरीन की उपस्थिति में H202 का अपघटन मन्द हो जाता है। यहाँ गिलसरीन है
(A) विष
(B) संदमक
(C) वर्धक
(D) सभी तीनों
show answer

(B) संदमक

एन्जाइमों के सम्बन्ध में कौन-सा कथन सही नहीं है ?
(A) एन्जाइमों की उत्प्रेरक सक्रियता ताप एवं pH परिवर्तन से प्रभावित नहीं होती है
(B) एन्जाइमों की उत्प्रेरक क्रिया अति विशिष्ट होती है
(C) एन्जाइम शरीर की क्रियात्मक अभिक्रियाओं को उत्प्रेरित करती है
(D) एन्जाइम उच्च अणुभार के प्रोटीन हैं जो जीवित कोशिकाओं में उत्पन्न होते हैं
show answer

(A) एन्जाइमों की उत्प्रेरक सक्रियता ताप एवं pH परिवर्तन से प्रभावित नहीं होती है

प्लैटिनम उत्प्रेरक के लिए विष का कार्य करते हैं
(A) सल्फर के ऑक्साइड
(B) नाइट्रोजन के ऑक्साइड
(C) ऑसैनिक के ऑक्साइड
(D) अमोनिया और ऑक्सीजन
show answer

(C) ऑसैनिक के ऑक्साइड

पेट्रोल में अपस्फोटकरोधी कारक के रूप में थोड़ा टेट्रोएथिल लेड (TEL) मिलाया जाता है।
(A) प्रेरित-उत्प्रेरक का
(B) ऋणात्मक उत्प्रेरक का
(C) धनात्मक उत्प्रेरक का
(D) स्व-उत्प्रेरक का
show answer

(B) ऋणात्मक उत्प्रेरक का

निम्न में से किसे बढ़ाकर उत्प्रेरक अभिक्रिया की गति बढ़ा देता है
(A) अणुओं की औसत गतिज ऊर्जा
(B) आण्विक टक्करों की आवृत्ति
(C) अभिक्रिया की सक्रियण ऊजां
(D) सक्रियण ऊर्जा से अधिक ऊर्जा के अणुओं का अनुपात
show answer

(D) सक्रियण ऊर्जा से अधिक ऊर्जा के अणुओं का अनुपात

निम्न में से कौन हाइड्रोजन गैस को अधिशोषित करता है
(A) सक्रिय चारकोल
(B) सिलिका जेल
(C) प्लैटिनम ब्लैक
(D) लौह चूर्ण
show answer

(C) प्लैटिनम ब्लैक

हाइड्रोफिलिक कोलॉइड सॉल है
(A) बेरियम सल्फेट सॉल
(B) आर्सेनिक सल्फाइड सॉल
(C) स्टार्च विलयन
(D) सिल्वर क्लोराइड सॉल
show answer

(C) स्टार्च विलयन

धनावेशित सॉल है।
(A) रक्त
(B) प्रबल अम्लीय विलयन में जिलेटिन
(C) धुंआ
(D) क्ले मिट्टी
show answer

(B) प्रबल अम्लीय विलयन में जिलेटिन

स्व-उत्प्रेरण में
(A) अभिकारक उत्प्रेरित करता है
(B) अभिक्रिया में उत्पन्न ताप उत्प्रेरित करता है
(C) प्रतिफल उत्प्रेरित करता है
(D) विलायक उत्प्रेरित करता है
show answer

(C) प्रतिफल उत्प्रेरित करता है

निम्न में से कौन-सा पदार्थ लायोफिलिक सॉल बनाने में व्यवहार नहीं किया जाता
(A) स्टार्च
(B) गोंद
(C) जिलेटिन
(D) धातु का सल्फाइड
show answer

(D) धातु का सल्फाइड

किस प्रकार के उत्प्रेरक की व्याख्या अधिशोषण सिद्धान्त से की जा सकती है?
(A) समांगी उत्प्रेरण
(B) विषमांगी उत्प्रेरण
(C) अम्ल-क्षार उत्प्रेरण
(D) एन्जाइम उत्प्रेरण
show answer

(B) विषमांगी उत्प्रेरण

निम्न में से किस धातु सॉल के Bredig आर्क विधि से नहीं बनाया जा सकता है ?
(A) Cu
(B) K
(C) Au
(D) Pt
show answer

(B) K

लैंगम्यूर अधिशोषण समतापी अच्छी तरह कार्यशील है जहाँ .
(A) बहु परतीय अधिशोषण हो सकता है
(B) एक परतीय अधिशोषण होता है
(C) प्राथमिक प्रावस्था में एक आण्विक अधिशोषण हो और बाद में बहु-आण्विक अधिशोषण हो
(D) सभी उपर्युक्त स्थितियों में
show answer

(B) एक परतीय अधिशोषण होता है

ताजे अवक्षेप को कोलाईडल विलयन में बदला जा सकता है।
(A) कोगुलेशन
(B) पेप्टाइजेशन
(C) डिफ्यूजन
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(B) पेप्टाइजेशन

पदार्थ जिसके पृष्ठ पर अधिशोषण घटित होता है, कहलाता है
(A) अधिशोषक
(B) अधिशोषण
(C) अधिशोषक और अधिशोष्य
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(A) अधिशोषक

अधिशोषण की प्रक्रिया होती है
(A) ऊष्माक्षेपी
(B) ऊष्माशोषी
(C) ऊष्माक्षेपी और ऊष्माशोषी
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(A) ऊष्माक्षेपी

अधिशोषण जिसमें अधिशोषक एवं अधिशोष्य मुक्त संयोजकता द्वारा संलग्न होते हैं, कहलाता है
(A) भौतिक अधिशोषण
(B) रासायनिक अधिशोषण
(C) अवशोषण
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(B) रासायनिक अधिशोषण

रासायनिक अधिशोषण की अधिशोषण ऊष्मा भौतिक अधिशोषण की अधिशोषण ऊष्मा की अपेक्षा होती है।
(A) कम
(B) अधिक
(C) कम और अधिक दोनों
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(B) अधिक

निम्न में से उत्प्रेरक का लक्षण प्रकट करता है?
(A) यह साम्य बिन्दु को परिवर्तित करता है
(B) किसी अभिक्रिया को प्रारंभ कराता है
(C) अभिक्रिया की दर को बढ़ाता है
(D) यह किसी अणु की गतिज ऊर्जा को बढ़ा देता है
show answer

(C) अभिक्रिया की दर को बढ़ाता है

उत्प्रेरक अभिक्रिया के दर को बढ़ाता है।
(A) एन्थैल्पी को घटकार
(B) आंतरिक ऊर्जा को कम करके
(C) सक्रियण ऊर्जा को घटाकर
(D) सक्रियण ऊर्जा को बढ़ाकर
show answer

(C) सक्रियण ऊर्जा को घटाकर

जैव उत्प्रेरक होता है।
(A) एक एन्जाइम
(B) एक कार्बोहाइड्रेट
(C) एक अमोनो अम्ल
(D) एक नाइट्रोजन युक्त क्षार
show answer

(A) एक एन्जाइम

उत्प्रेरक की क्रियाशीलता निर्भर करती है।
(A) द्रव्यमान पर
(B) विलेयता पर
(C) कणों के आकार पर
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(C) कणों के आकार पर

उत्प्रेरण के अधिशोषण सिद्धांत के अनुसार अभिक्रिया वेग बढ़ जाता है क्योंकि
(A) उत्प्रेरक के सक्रिय केन्द्रों पर अधिशोषण के कारण अधिकारकों की सान्द्रता बढ़ जाती है
(B) अधिशोषण के कारण अणुओं की सक्रियण ऊर्जा बढ़ जाती है
(C) अधिशोषण ऊष्मा उत्पन्न करके क्रिया के वेग को बढ़ा देता है
(D) अधिशोषण अभिक्रिया की सक्रियण ऊर्जा को कम कर देता है
show answer

(D) अधिशोषण अभिक्रिया की सक्रियण ऊर्जा को कम कर देता है

ग्रिगनार्ड अभिकर्मक निर्माण में प्रयुक्त उत्प्रेरक है:
(A) आयोडीन चूर्ण
(B) आयरन चूर्ण
(C) मैंगनीज ऑक्साइड
(D) सक्रिय चारकोल
show answer

(A) आयोडीन चूर्ण

उत्प्रेरक के संदर्भ में असत्य है?
(A) ये कभी-कभी अभिकारक के सापेक्ष अति विशिष्ट होते हैं
(B) अभिक्रिया के अंत में ये संघटन एवं द्रव्यमान में अपरिवर्तित रहते हैं
(C) ये अभिक्रिया को चालू नहीं कर सकते
(D) ये उत्क्रमणीय अभिक्रिया के साम्य को परिवर्तित नहीं करते हैं ।
show answer

(B) अभिक्रिया के अंत में ये संघटन एवं द्रव्यमान में अपरिवर्तित रहते हैं

एन्जाइम के संदर्भ में सही है ?
(A) ये विशिष्ट जैव उत्प्रेरक हैं जो सामान्यतः बहुत कम ताप पर (100K) कार्य करते है
(B) सामान्यतः ये विषमांगी उत्प्रेरक होते हैं और क्रिया में अति विशिष्ट होते हैं
(C) एन्जाइम वे विशिष्ट जैव उत्प्रेरक हैं जिसे विष नहीं दिया जा सकता
(D) एन्जाइम वे विशिष्ट जैव उत्प्रेरक हैं जिसमें सुपरिभाषित सक्रिय केन्द्र होते हैं

show answer
(B) सामान्यतः ये विषमांगी उत्प्रेरक होते हैं और क्रिया में अति विशिष्ट होते हैं

उत्क्रमणीय अभिक्रिया में उत्प्रेरक
(A) केवल अग्र अभिक्रिया की दर बढ़ाते हैं
(B) पश्च अभिक्रिया की अपेक्षा अग्र अभिक्रिया की दर को अधिक बढ़ाते हैं
(C) भिन्न-भिन्न मात्रा में अग्र अभिक्रिया की दर बढ़ाते है और पश्च की दर घटाते हैं
(D) अग्र एवं पश्च, दोनों अभिक्रियाओं की दर को समान रूप से बढ़ाते हैं
show answer

(D) अग्र एवं पश्च, दोनों अभिक्रियाओं की दर को समान रूप से बढ़ाते हैं

सूक्ष्म विभाजित उत्प्रेरक अधिक प्रभावी होता है, क्योंकि
(A) कम पृष्ठ क्षेत्रफल उपलब्ध होता है
(B) अधिक सक्रिय केन्द्र बनते हैं
(C) अणुओं की सीमित संख्या
(D) पृष्ठ क्षेत्रफल बढ़ता है।
show answer

(B) अधिक सक्रिय केन्द्र बनते हैं

एन्जाइम के संदर्भ में असत्य हैः
(A) ये कोलॉइडी अवस्था में होते हैं
(B) ये उत्प्रेरक है
(C) ये किसी भी अभिक्रिया को उत्प्रेरित कर सकते हैं
(D) एंटिजन एक एन्जाइम है
show answer

(C) ये किसी भी अभिक्रिया को उत्प्रेरित कर सकते हैं

मानव शरीर में एन्जाइम उत्प्रेरित कुछ जैव रासायनिक अभिक्रियाएँ प्रयोगशाला की तुलना में 103 गुना तेज होती है। अभिक्रिया की सक्रियण ऊर्जाः
(A) शून्य है
(B) दोनों दशाओं में भिन्न-भिन्न है
(C) दोनों दशाओं में समान है
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(B) दोनों दशाओं में भिन्न-भिन्न है

जब एक द्रव को प्रकाश के बीच में से प्रवाहित करते हैं तो फैल जाता है लेकिन फिल्टर पेपर से प्रवाहित करने पर कोई अवशेष नहीं बचता है तो वह द्रव है
(A) निलम्बन
(B) तेल
(C) कोलॉइडी विलयन
(D) वास्तविक विलयन
show answer

(C) कोलॉइडी विलयन

बादल निम्न में से किसका उदाहरण है
(A) ठोस का गैस में मिश्रण
(B) द्रव का गैस में मिश्रण
(C) द्रव का ठोस में मिश्रण
(D) ठोस का द्रव में मिश्रण
show answer

(B) द्रव का गैस में मिश्रण

ब्राउनी गति का कारण है
(A) ऊष्मा का द्रव अवस्था में परिवर्तन
(B) वैधुत धारा का प्रवाह
(C) परिक्षेपण माध्यम के कणों का कोलॉयडी कणों पर निरंतर टकराव
(D) कोलॉयडी कण व परिक्षेपण माध्यम के बीच का आकर्षण बल का होना
show answer

(C) परिक्षेपण माध्यम के कणों का कोलॉयडी कणों पर निरंतर टकराव

निम्न में से कोलॉयडी कणों पर आकार है
(A) 10-7 से 10-9 सेमी०
(B) 10-9 से 10-11 सेमी०
(C) 10-5 से 10-7 सेमी०
(D) 10-2 से 10-3 सेमी०
show answer

(C) 10-5 से 10-7 सेमी०

निम्न में से कौन टिण्डल प्रभाव नहीं दिखाता?
(A) सस्पेंशन
(B) इमल्शन
(C) शर्करा विलयन
(D) स्वर्ण विलयन
show answer

(C) शर्करा विलयन

द्रवस्नेही विलयन स्थायी होता है क्योंकि
(A) कणों पर आवेश के कारण
(B) कणों का बड़ा आकार होता है
(C) कणों का छोटा आकार होता है
(D) परिक्षेपण माध्यम की परतों के कणों पर उपस्थित होना
show answer

(A) कणों पर आवेश के कारण

CMC पर सतह कण
(A) अपघटित हो जाते हैं
(B) पूर्णतया विलेय हो जाते हैं
(C) संगठित हो जाते हैं
(D) पृथक हो जाते हैं
show answer

(C) संगठित हो जाते हैं

कोलॉइड पर उपस्थित आवेश को नष्ट करने हेतु किसे प्रयुक्त करते हैं ?
(A) इलेक्ट्रॉन
(B) वैधुत अपघट्य
(C) धनायन
(D) यौगिक
show answer

(B) वैधुत अपघट्य

ब्रेडिंग आर्क विधि द्वारा किसका कोलॉइडी विलयन नहीं बनाया जा सकता है?
(A) Pt
(B) Fe
(C) Ag
(D) Au
show answer

(B) Fe

0.73g HCI मिलाने पर बिना आयतन परिवर्तन के 200 mL धनात्मक सॉल का स्कंदन होता है। इस कोलॉइड के लिए HCI का अवक्षेप मान है:
(A) 0.365
(B) 36.5
(C) 100
(D) 200
show answer

(B) 36.5

कोलॉइडों में व्यास का परास है:
(A) 1 से 100 nm
(B) 1 से 1000 nm
(C) 1 से 100 cm
(D) 1 से 100m
show answer

(B) 1 से 1000 nm

स्वर्ण संख्या सबसे कम होती है
(A) जिलेटिन में
(B) अण्डे के एल्बुमिन में
(C) गोंद में
(D) स्टार्च में
show answer

(A) जिलेटिन में

कुहरा निम्न में से किस प्रकार के कोलॉयडल सिस्टम का उदाहरण है
(A) गैस का द्रव में विलयन
(B) द्रव का गैस में विलय
(C) ठोस का द्रव में विलयन
(D) द्रव का द्रव में विलयन
show answer

(B) द्रव का गैस में विलय

पेप्टीकरण वह प्रक्रिया है जिसमें
(A) कोलॉइडल कणों का अवक्षेपण होता है
(B) कोलॉइडल का शुद्धिकरण
(C) अवक्षेप का कोलॉइडल सॉल में परिवर्तन
(D) कोलॉइडल कणों का वैधुत क्षेत्र में गमन
show answer

(C) अवक्षेप का कोलॉइडल सॉल में परिवर्तन

निम्न में हाइड्राफोबिक कोलॉइड है
(A) स्टार्च
(B) जिलेटिन
(C) गोंद
(D) सल्फर
show answer

(D) सल्फर

निम्न में कौन-सा अधिशोषण के दौरान जीरो से कम होता है।
(A) AG
(B) ASm
(C) AH
(D) उपरोक्त सभी
show answer

(D) उपरोक्त सभी

किसके द्वारा दूध को कुछ समय के लिए सुरक्षित किया जा सकता है
(A) फार्मिक एसिड विलयन
(B) फारमल्डिहाइंड विलयन
(C) एसिटिक एसिड विलयन
(D) एसिटल्डिहाइड विलयन
show answer

(B) फारमल्डिहाइंड विलयन

खाद्य संरक्षण में प्रयुक्त पोटैशियम मेटा सल्फाइट है
(A) विषमांगी उत्प्ररेक
(B) समांगी उत्प्रेरक
(C) ऋणात्मक उत्प्रेरक
(D) धनात्मक उत्प्रेरक
show answer

(C) ऋणात्मक उत्प्रेरक

कौन-सा कथन रसोवशोषण हेतु प्रयोज्य नहीं है।
(A) ये ताप से स्वतंत्र होते हैं
(B) ये अति विशिष्ट होते हैं
(C) ये मंद होते हैं
(D) ये उत्क्रमणीय होते हैं
show answer

(A) ये ताप से स्वतंत्र होते हैं

फिटकरी जल शोधित करती हैः ।
(A) कीचड़ कणों से सिलिकॉन संकुल बनाकर
(B) सल्फेट भाग, जो कि धूल से संयोजित होकर उसे बाहर करता है
(C) एलुमिनियम, जो कीचड़ को स्कंदित करता है
(D) कीचड़ युक्त जल को विलेय बनाकर
show answer

(C) एलुमिनियम, जो कीचड़ को स्कंदित करता है

भौतिक अधिशोषण में गैस के कण ठोस सतह पर किस बल द्वारा बंधे रहते
(A) रासायनिक बल
(B) वैधुत बल
(C) गुरुत्वीय बल .
(D) वाण्डर वाले बल
show answer

(D) वाण्डर वाले बल

रासायनिक अधिशोषण में कितनी परतें होती हैं ?
(A) एक
(B) दो
(C) बहुत सी परतें
(D) शून्य
show answer

(A) एक

ठोस की सतह पर गैस के अधिशोषण के सन्दर्भ में कौन-सा कथन सही नहीं
(A) ताप बढ़ने पर अधिशोषण की मात्रा बढ़ जाती है
(B) एन्थैल्पी व एन्ट्रोपी परिवर्तन ऋणात्मक होते हैं
(C) रासायनिक अधिशोषण भौतिक की अपेक्षा अधिक विशिष्ट होता है
(D) यह उत्क्रमण क्रिया है
show answer

(A) ताप बढ़ने पर अधिशोषण की मात्रा बढ़ जाती है

लैंगम्यूर समतापी किस परिकल्पना पर आधारित है:
(A) अधिशोषण स्थलों की कणों की अधिशोषित करने की क्षमताएँ समतुल्य होती हैं
(B) अधिशोष ऊष्मा विस्तार के साथ बढ़ती है
(C) अधिशोषित अणु परस्पर अन्तक्रिया करते हैं
(D) अधिशोषण बहुलपरतीय होती है
show answer

(A) अधिशोषण स्थलों की कणों की अधिशोषित करने की क्षमताएँ समतुल्य होती हैं

अधिशोषण सभी दशाओं में उपयोगी है, सिवायः
(A) रंगहीन करने में
(B) समांगी उत्प्रेरण में
(C) अक्रिय गैसों का पृथक्करण में
(D) आर्द्रता निरोधन में
show answer

(B) समांगी उत्प्रेरण में

सिलिकेट रिक्तियों में रंगीन आयन विकसित करके सिलिकेट गार्डेन बनाते हैं यह उदाहरण हैं:
(A) अधिशोषण का
(B) अवशोषण का
(C) (A) एवं (B) दोनों का
(D) किसी का नहीं .
show answer

(A) अधिशोषण का

भौतिक अधिशोषण हेतु सही नहीं है
(A) अधिशोषण ताप के साथ बढ़ता है ।
(B) अधिशोषण स्वतः होता है
(C) अधिशोषण की एन्थैल्पी एवं एन्ट्रॉपी दोनों (-)ve होती है
(D) ठोस पर अधिशोषण की प्रकृति उत्क्रमणीय होती है
show answer

(A) अधिशोषण ताप के साथ बढ़ता है ।

ठोस के पृष्ठ पर गैस के अधिशोषण के लैंगम्यूर मॉडल में
(A) ठोस पृष्ठ पर अधिशोषित कणों का वियोजन घेरे गए क्षेत्रफल पर निर्भर करता
(B) पृष्ठ के एकल स्थल पर अधिशोषण एक साथ बहुअणुक हो सकता है।
(C) किसी दिए गए क्षेत्रफल पर टकराने वाले गैस का द्रव्यमान उसके दाब के अनुक्रमानुपाती होता है
(D) किसी दिए गए क्षेत्रफल पर टकराने वाले गैस का द्रव्यमान उसके दाब से स्वतंत्र होता है
show answer

(C) किसी दिए गए क्षेत्रफल पर टकराने वाले गैस का द्रव्यमान उसके दाब के अनुक्रमानुपाती होता है

टिन्डल प्रभाव पाया जाता है
(A) विलयन में
(B) अपक्षेप में
(C) सॉल में
(D) वाष्पों में
show answer

(C) सॉल में

किसी ठोस पर गैस के अधिशोषण हेतु सत्य हैः
(i) फ्रायंडलिक समतापी के अनुसार अधिशोषण की मात्रा = kPn
(ii) फ्रायंडलिक समतापी के अनुसार अधिशोषण की मात्रा =kpl/m
(iii) लैंगम्यूर समतापी के अनुसार अधिशोषण की मात्रा = aP(1+ bP)
(iv) निम्न ताप पर फ्रायंडलिक अधिशोषण समतापी असफल होता है
(A) (i) और (ii)
(B) (iii) और (iv)
(C) (ii) और (iii)
(D) (ii) और (iv)
show answer

(D) (ii) और (iv)

निम्न में से कौन लायोफिलिक कोलॉयड है।
(A) दूध
(B) गोंद
(C) कुहासा
(D) रक्त
show answer

(A) दूध

निम्न में कौन-सा गुण कोलॉयड विलयन के आवेश से स्वतंत्र है
(A) इलेक्ट्रो ऑसमोसिस
(B) टिन्डल प्रभाव
(C) स्कंदन (coagulation)
(D) वैधुत कण संचलन
show answer

(B) टिन्डल प्रभाव

100.आरोपित वैधुत क्षेत्र में कोलॉइडी कणों की गति कहलाती है
(A) अपोहन
(B) वैधुत कण संचलन
(C) वैधुत अपोहन
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(B) वैधुत कण संचलन

101.As2S3 के कोलॉइडी घोल के स्कंदन में किसका स्कंदन प्रभाव अधिकतम है
(A) Naci
(B) KCI
(C) BaCl2
(D) AICL3
show answer

(D) AICL3

102.कोलॉइड घोलों का शुद्धिकरण किसके द्वारा किया जाता है ?
(A) छानना
(B) केन्द्रापसरण
(C) डाइलिसिस
(D) ओसमोसिस
show answer

(C) डाइलिसिस

103.पृष्ठ पर किसी आणविक स्पीशिज के केन्द्रीकरण की घटना कहलाती है
(A) अवशोषण
(B) अधिशोषण
(C) संगुणन
(D) इनमें से कोई नहीं
show answer

(B) अधिशोषण

 

youtube channel
Whatsapp Channel
Telegram channel

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top